सुभाष घई ने सीएम कमलनाथ से की ओशो के नाम पर यूनिवर्सिटी बनाने की मांग

Subhash-Ghai-in-Jabalpur

 

ओशो महोत्सव में शामिल होने जबलपुर आये प्रसिद्द फिल्म निर्माता निदेशक सुभाष घई ने प्रदेश सरकार से मांग की कि ओशो को याद रखने के लिए जबलपुर में विश्व स्तर का ध्यान केंद्र और ओशो के नाम पर एक यूनिवर्सिटी बनायी जाए जिसमे ओशो के दर्शन शास्त्र की शिक्षा दी जा सके. ओशो को समझने और जाने के लिए जरूरी है की इस तरह के प्रयास किये जाए. सुभाष घई ने कहा की भारत के ध्यान और दर्शन शास्त्र को पूरे विश्व में अलग पहचान मिली है और विश्व के अनेक देशो ने इसे अपने शिक्षा के विषय में शामिल भी किया है. हमें भी स्कूलों में प्रारंभिक शिक्षा में ध्यान और दर्शन शास्त्र को शामिल करना चाहिए जिससे बच्चे हमारे इस शास्त्र के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर सकें और जब वे बड़े होम तो उन्हें मानसिक तनाव से इस शास्त्र के माध्यम से निजात मिल सके. सुभाष घई ने कहा कि उन्होंने ओशो के जीवन प्रसंग से प्रेरणा लेकर कुछ हिस्से अपनी फिल्मो में शामिल किये है लेकिन ओशो विषय इतना विस्तृत है की उन पर फिल्म बनाना फिलहाल संभव नही है.

 

ओशो के नाम पर खुले यूनिवर्सिटी

निर्माता-निर्देशक सुभाष घई (Film Director Subhash Ghai) ने मीडिया के साथ चर्चा के दौरान जबलपुर और देश के अन्य स्थानों पर ओशो के नाम पर इंस्टीट्यूट्स और यूनिवर्सिटी खोलने का सुझाव दिया. उन्होंने प्रदेश सरकार द्वारा किए गए आयोजन की सराहना करते हुए मांग भी की कि जबलपुर ओशो की कर्मभूमि है. यहां उन्होंने आध्यात्म को आत्मसात किया, इसलिए यहां एक एजुकेशन इंस्टीट्यूट होना चाहिए. इसके अलावा लोगों को सलाह दी कि वे अपने बच्चों को ओशो के संदेशों से परिचित करवाएं, उनके वक्तव्य सुनाएं और मेडिटेशन के लिए प्रेरित करें, जिससे उनका नजरिया जिंदगी के प्रति बदले और से अंदर से भी मजबूत और सक्षम बन सकें.

MP के गांव में कैटरीना कैफ ने बच्चों के साथ की मस्ती

जबलपुर (Jabalpur) में आचार्य रजनीश के जन्मदिवस पर आयोजित ओशो अंतरराष्ट्रीय महोत्सव में मीडिया को संबोधित कर रहे थे. इस मौके पर सुभाष घई ने कहा कि वे ओशो के प्रशंसक हैं. पिछले 30 वर्षों से ओशो के वक्तव्य और उनके संदेश सुन रहे हैं. घई ने कहा कि वे ओशो के जीवन और उनके व्याख्यान पर फिल्म बनाने पर विचार कर रहे हैं. उन्होंने कहा है कि ओशो जैसे व्यक्तित्व पर फिल्म बनाने के लिए तैयारी बहुत ज्यादा करना होगी, इसलिए वे जल्द ही इस पर काम शुरू कर रहे हैं.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *