लेख: अद्भुत, अकल्पित हैं स्वर माधुर्य की साम्राज्ञी लता मंगेशकर

बादल भारद्वाज – वो ब्रह्म है। कोई उससे बड़ा नहीं। वो प्रथम सत्य है और वही अंतिम सत्ता भी। वो …

Read More